Corona_Awareness

कोरोना से बचाव के लिए क्या करे

·         बार-बार हाथ धोएं। जब आपके हाथ स्‍पष्‍ट रूप से गंदे न हों तब भी अपने हाथों को अल्‍कोहल – आधारित हैंड वॉश या साबुन और पानी से साफ करें l

·         छींकते और खांसते समय, अपना मुंह व नाक टिशू/रूमाल से ढकें।

·         प्रयोग के तुरंत बाद टिशू को किसी बंद डिब्‍बे में फेंक दें ।

·         अगर आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में कठिनाई है तो डॉक्‍टर से सम्‍पर्क करें। डॉक्‍टर से मिलने के दौरान अपने मुंह और नाक को ढकने के लिए मास्‍क/ कपड़े का प्रयोग करें ।

·         कोरोना वायरस के भयावह प्रकोप से जीवन बचाने के लिये हम सभी राज्‍य सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी की पूरी तरह से पालना करें।

·         खाँसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षण पाये जाने पर नजदीकी सरकारी अस्पताल में सम्पर्क करें।

·         लक्षण वाले यात्री छींकते और खाँसते समय नाक और मुँह ढ़क कर रखें एवं मास्क लगाकर रखें।

·         नियमित रूप से अपने हाथ साबुन-पानी से धोएं एवं स्वच्छता का ध्यान रखें।

·         संक्रमण के लक्षण होने पर अन्य व्यक्तियों से सुरक्षित दूरी बनाए रखें।

·         हाथ न मिलाएं - नमस्ते से काम चलाएं।

·         मोबाइल फोन को भी नियमित रूप से सेनेटाइजर से साफ करें।

·         सार्वजनिक स्‍थलों की रैलिंग आदि को रोगाणुनाशक से नियमित रूप से साफ करें।

कोरोना से बचाव के लिए क्या ना करे

·         यदि आपको खांसी और बुखार का अनुभव हो रहा हो, तो किसी के साथ संपर्क में ना आयें।

·         अपनी आंख, नाक या मुंह को ना छूयें।

·         सार्वजनिक स्‍थानों पर ना थूकें।

·         कोरोना प्रभावित देशों की यात्रा से लौटने के अगले 14 दिनों तक अन्य व्यक्तियों के साथ सम्पर्क नहीं करें।

·         यात्रा पर ना जायें, घर से निकलना भी कम करें। मेलों व भीड़-भाड़ वाले स्‍थानों, धार्मिक स्‍थलों, उत्‍सवों आदि आयोजनों में नहीं जायें ।