Events

ई-सखी प्रशिक्षण का द्वितीय चरण 23 व 24 को

Events

सूचना प्रोद्यौगिकी और संचार विभाग, झुन्झुनु द्वारा डिजीटल इंडिया अभियान में महिलाओ की भागीदारी को सशक्त बनाने हेतु राजस्थान सरकार की महत्वाकांक्षी योजना ई-सखी के तहत जिले में संचालित RKCL आई.टी. ज्ञान केन्द्रों के प्रशिक्षकों को दिये जाने वाले दो दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण का द्वितीय चरण 23 व 24 जुलाई को सेठ मोतीलाल महाविद्यालय, झुंझुनू में आयोजित किया जायेगा।

कार्यक्रम का शुभारंभ अतिरिक्त जिला कलक्टर मुन्नीराम बगड़िया की अध्यक्षता में 23 जुलाई को सुबह 10.30 बजे किया जायेगा। कार्यक्रम के पहले दिन 23 जुलाई को मास्टर ट्रेनरों द्वारा RKCL आई.टी. ज्ञान केन्द्रों के प्रशिक्षकों को राजस्थान सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं जैसे भामाशाह योजना, राजधरा एप, भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना, ई-मित्र योजना, ई-पीडीएस, राजस्थान सम्पर्क, महिला सुरक्षा एप, राज एप सेंटर की इलेक्ट्रोनिक माध्यम से सेवा प्रदायगी के बारे में प्रशिक्षण दिया जायेगा। कार्यक्रम के दूसरे दिन 24 जुलाई को RKCLआई.टी. ज्ञान केन्द्र के प्रशिक्षकों के प्रस्तुतीकरण व चिलेक्स प्रश्नोतरी प्रतियोगिता का आयोजन किया जायेगा। इसके आधार पर प्रशिक्षणार्थियों का मूल्यांकन किया जायेगा एवं अव्वल रहने वाले 10 प्रतिभागियों को सम्मानित भी किया जायेगा। प्रषिक्षण में उत्र्तीण होने वाले समस्त RKCL आई.टी. ज्ञान केन्द्र प्रशिक्षक लक्ष्य निर्धारित कर इच्छुक महिलाओं को प्रशिक्षित करेंगे जिन्हें ई-सखी के नाम से जाना जायेगा। वे अपने कार्य क्षेत्र में कम से कम 100 महिलाओं को सरकार की योजनाओं के बारे में डिजीटली प्रशिक्षित करेंगी।

(News21072018)

ई-सखी प्रशिक्षण में सूरजगढ का अरूण इन्फोटेक रहा प्रथम

Events

झुंझुनूं, 24 जुलाई। जिला मुख्यालय स्थित सेठ मोतीलाल महाविद्यालय में चल रहे राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी योजना ई-सखी के दो दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण मंगलवार को सायं 5 बजे अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रतिष्ठा पिलांनिया की अध्यक्षता में समापन किया गया।

प्रशिक्षण के दूसरे दिन आरकेसीएल आई.टी. ज्ञान केन्द्र के प्रशिक्षकों को मास्टर ट्रेनरों द्वारा दिए गये प्रशिक्षण की जांच के लिए प्रस्तुतीकरण का आयोजन किया गया। इसमें आरकेसीएल आई.टी. ज्ञान केन्द्र के समस्त प्रशिक्षकों द्वारा डिजीकिट, एस.एस.ओ. लोगिन, ई-वॉल्ट, मोबाइल एप, राजस्थान सम्पर्क, भामाशाह योजना, भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना, राजधरा एप, ई-मित्र व ई-मित्र प्लस योजना का इलेक्ट्रोनिक माध्यम से सेवा प्रदायगी के बारे में नाटकीय रूप व कविता के माध्यम से प्रस्तुतीकरण दिया गया।

प्रस्तुतीकरण के बाद चिलेक्स प्रश्नोतरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें प्रशिक्षकों द्वारा प्रश्नोतरी के ऑनलाइन प्लेटफोर्म से मोबाइल के माध्यम से जुड़कर प्रतियोगिता में भाग लिया। प्रशिक्षकों नेे प्रस्तुतीकरण व चिलेक्स प्रश्नोतरी प्रतियोगिता के आधार पर प्रशिक्षकों का मूल्यांकन किया गया। मूल्यांकन में 10 अव्वल प्रशिक्षकों को अतिथियों द्वारा सम्मानित किया गया।

प्रथम स्थान अरूण इन्फोटेक आईटीजीके पिलानी की राजश्री ने प्राप्त किया, इन्होंने कविता के माध्यम से ई-सखी परियोजना के बारे में बताया। द्वितीय स्थान यूआईआईटी कप्युटर एजुकेशन सेन्टर सूरजगढ के रतन सिंह ने प्राप्त किया, इनके द्वारा ई-वॉल्ट के बारे मेें बताया गया। तृतीय स्थान बिड़ला तकनीकी प्रशिक्षण संस्थान पिलानी ने प्राप्त किया।

इस अवसर पर सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के एसीपी उपनिदेशक घनश्याम गोयल, महिला बाल अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक विप्लव न्यौला, सांंख्यिकी विभाग के सहायक निदेशक बाबुलाल रैगर, प्रोग्रामर रघुवीर सिंह झाझड़िया, प्रोग्रामर दीपा देवड़ा और सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग का स्टाफ आदि उपस्थित थे।

प्रशिक्षण में प्रशिक्षित प्रशिक्षकों द्वारा इच्छुक महिलाओं को प्रशिक्षित किया जायेगा। जिन्हें ई-सखी के नाम से जाना जायेगा। इन ई-सखियों द्वारा अपने कार्य क्षेत्र में कम से कम 100 महिलाओं को सरकार की योजनाओं के बारे में डिजीटली प्रशिक्षित किया जायेगा।

(News24072018)